"Everybody is a genius. But if you judge a fish by its ability to climb a tree, it will live its whole life believing that it is stupid." – Albert Einstein

Advantages of FDI


आइये आज ऍफ़ डी आई के फायदे जाने

फायदा संख्या एक – कांग्रेस का काला धन जो स्विस बैंक में जमा है वापिस आकर सफ़ेद बन जाएगा ||

फायदा संख्या दो – भारत से गरीबी कम हो जायेगी ( गरीब आत्महत्या करना शुरू कर देगा तो गरीबी अपने आप कम हो जायेगी )

फायदा संख्या तीन – कामी लोगो को पाश्चात्य संस्कृति का नंगा नाच और अधिक देखने को मिलेगा ( आखिर ऍफ़ डी आई विदेशी सभ्यता का ही पालन करेगे )

फायदा संख्या चार – चाइनीज सस्ती वस्तुए पहले के मुकाबले और अधिक
उपलब्ध होंगी ( जो यूज एंड थ्रो के लिए दुनिया भर में जानी जाती है ||

फायदा संख्या पांच – भारत का पैसा भारत से बाहर जाएगा तो डूबती हुयी वालमार्ट जैसी कम्पनियां फिर से खड़ी हो जायेगी | ( आखिर अमेरिका और चीन के डूबता जहाज को भारत जैसा दयावान देश ही सहारा दे सकता है )

फायदा संख्या छह – बड़ी बड़ी कम्पनियां आटा , डाल , चावल , सब्जी बेचेगी ( क्योकि यहाँ भारतीय यह काम नहीं कर पा रहे इसलिए भारत सरकार ने विदेशियों को इस काम के लिए चुना है याद रखे ईस्ट इण्डिया कम्पनी ने आकर सबसे पहले मसाले बेचे थे )

फायदा संख्या सात – केवल मुनाफे के लिए किसानी करने वाले बड़े फार्मर्स और अधिक दवाइयों का प्रयोग कर हानिकारक सब्जियां और खाद्य प्रदार्थों की उत्पत्ति करेगे ( एक इंजेक्शन से १६ लोकी १३ घंटे ने ऊँगली से हाथ जितनी बड़ी बन जाती है )

फायदा संख्या आठ – अधिक कीटनाशक और अधिक हानिकारक तत्वों के प्रयोग से किसानो की जमीने जल्द ही बंजर हो जायेगी और भारत विदेशी खाद्यों पर निर्भर होने को मजबूर हो जाएगा ( जैसा ईस्ट इण्डिया कम्पनी ने लाल आटा जो रबड़ का दूसरा रूप होता था हम भारतियों को खाने के लिए मजबूर कर दिया था और हमारा गेहूं वो विदेश भेज देते थे )

फायदा संख्या नौ – मुलायम , मायावती जैसे मौका परस्त नेताओं की सत्ता में दखल बढेगी ( क्योकि जब कभी भी राष्ट्र विरोधी कानून और जनता विरोधी नीतियाँ लागू होंगी कांग्रेस इन जैसे सहयोगियों के संसद से भागने की वजह से वोटिंग आदि जीत जायेगी )

फायदा संख्या दस – सबसे अच्छी और बड़ी बात भारत की निर्मल और पावन धरा से नामक अभिशाप कभी नष्ट नहीं हो पायेगा और भारत पुनः गुलामी की ओर अग्रसर हो जाएगा ( भारत ९९ साल की लीज पर है और ६५ वर्ष पूर्ण हो चुके है अगले ३३ वर्षों में भारतियों को पाश्चात्य संस्कृति और विदेशी सामान की ऐसी लत लगा दी जायेगी की भारत आर्थिक गुलाम बन जाएगा )

One response

  1. Sonia gandi

    ha ha ha

    December 14, 2012 at 6:22 PM

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s