"Everybody is a genius. But if you judge a fish by its ability to climb a tree, it will live its whole life believing that it is stupid." – Albert Einstein

Delhi jitteres after minor girl raped


पुलिस ने पहले दी रिश्वत, फिर लड़की को मारा थप्पड़

Photo - बर्बर दिल्ली पुलिस

दिल्ली में पाँच साल की एक लड़की बलात्कार के बाद ज़िंदगी की जंग लड़ रही है. पूर्वी दिल्ली के गाँधीनगर इलाक़े की इस घटना के विरोध में जम कर प्रदर्शन भी हुए हैं.

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा है कि पाँच साल की लड़की के साथ हुई बलात्कार की घटना पर काफ़ी विचलित हुए हैं.

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में जहां एक तरफ अपराधी रेप के तमाम रेकॉर्ड्स तोड़ने में लगे हैं, वहीं पुलिस अपनी कारगुजारियों से नए-नए रेकॉर्ड बनाती जा रही है। ताजा मामले में ईस्ट दिल्ली के गांधीनगर में एक बच्ची के साथ कई दिनों तक हुए रेप कांड में पहले तो पुलिस ने पीड़ित परिवार को 2000 रुपए रिश्वत देकर अपनी नाकामी पर परदा डालने की कोशिश की और फिर विरोध कर रहे आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं पर बल प्रयोग किया। पुलिस ऑफिसर ने विरोध कर रही एक लड़की को सार्वजनिक रूप से थप्पड़ जड़ने में भी हिचक नहीं दिखाई।

Photo - बूढ़ी औरत को भी नहीं बख्शा
आरोप

आरोप है कि पड़ोसी ने कथित तौर पर इस लड़की का अपहरण कर लिया था और फिर उसे 48 घंटे तक एक कमरे में बंद करके उसके साथ बार-बार बलात्कार किया गया.

अभी तक इस मामले में कोई गिरफ़्तारी नहीं हो पाई है. पीड़ित लड़की के परिजनों और पड़ोसियों का आरोप है कि पुलिस ने समय पर कार्रवाई नहीं की, लेकिन पुलिस ने इन आरोपों से इनकार किया है. पुलिस का कहना है कि जैसे ही उन्हें इसकी सूचना मिली, उन्होंने कार्रवाई की.

समाचार एजेंसी पीटीआई ने डॉक्टरों के हवाले से बताया है कि पीड़ित लड़की की हालत गंभीर है और अगले 24 से 48 घंटे उसके लिए काफ़ी अहम हैं.

रिपोर्ट में ये भी बताया गया है कि जिस मकान में लड़की को क़ैद रखा गया था, वहाँ से गुज़रने वाले एक व्यक्ति ने लड़की के रोने की आवाज़ सुनी और फिर उसे वहाँ से निकाला गया.

ये लड़की पिछले चार दिनों से लापता थी. पुलिस को उसी मकान में रहने वाले एक व्यक्ति पर शक है, जिसकी तलाश की जा रही है.

Photo - यूपी पुलिस भी नहीं है कम

विरोध प्रदर्शन

विरोध प्रदर्शनजैसे ही इस बलात्कार की ख़बर फैली, लोग अस्पताल के बाहर जुटने लगे

पहले पीड़ित लड़की को पूर्वी दिल्ली के गांधी नगर इलाक़े में स्थित स्वामी दयानंद अस्पताल में भर्ती कराया गया था. जैसे ही इस घटना की ख़बर लोगों को लगी, अस्पताल के बाहर लोग जुटना शुरू हो गए और सरकार के ख़िलाफ़ नारेबाज़ी भी हुई.

इनमें आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता भी शामिल थे.

दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर एके वालिया को लोगों के ग़ुस्से का सामना करना पड़ा और पुलिस ने लोगों के आक्रोश से उन्हें बचाया. अब लड़की को एम्स में भर्ती कराया गया है.

स्वामी दयानंद अस्पताल के प्रमुख आरएन बंसल ने बताया, "जब लड़की को अस्पताल लाया गया, तो वो काफ़ी सदमे में थी. उसके शरीर पर कई जगह चोटों के निशान थे."

दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता राजन भगत ने समाचार एजेंसी एएफ़पी को बताया है कि पुलिस ने बलात्कार और हत्या की कोशिश के इस मामले की जाँच शुरू कर दी है.

एक और ‘गैंगरेप’

दिल्ली पुलिसएक बार फिर दिल्ली पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाए गए हैं

एक अन्य घटना में 19 वर्षीय महिला के साथ कथित गैंगरेप की शिकायत की भी दिल्ली पुलिस जाँच कर रही है.

रिपोर्टों के मुताबिक़ ये महिला नौकरानी के रूप में काम करती थी और लिफ़्ट देने के नाम पर कुछ लोगों ने उस महिला को अपनी गाड़ी पर बैठाया और फिर कथित रूप से उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया.

दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता राजन भगत ने बताया है कि इस मामले में पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. ये महिला गुरुवार को अर्धनग्न अवस्था में सड़क किनारे पाई गई थी.

सफदरजंग अस्पताल के डॉक्टरों का कहना है कि ये महिला को भी काफ़ी आघात लगा है, लेकिन शरीर पर चोटों के निशान नहीं है.

पिछले साल दिसंबर में एक लड़की के साथ चलती बस में हुए सामूहिक बलात्कार के मामले को लेकर देशभर में व्यापक प्रदर्शन हुए थे. बाद में उस लड़की की मौत हो गई थी.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s